जिनके पास एक से अधिक बैंक खाते हैं हो जाएं सावधान, वरना लग सकता है जुर्माना

नई दिल्ली :आज के समय में काफी लोगों की इच्छा होती है कि हमारे पास एक से अधिक बैंक खाते हो अगर इच्छा नहीं भी होती है तो भी कि नहीं कारणवश उन्हें दो से तीन बैंक अकाउंट खोलना ही पड़ता है ऐसे में इसके काफी सारे लाभ भी है लेकिन दो-तीन बैंक अकाउंट खोलने की काफी सारे नुकसान भी हमें देखने को मिलते हैं और ऐसा ही एक नुकसान है अगर आप यूपीआई के द्वारा अपने बैंक अकाउंट को जोड़ते हैं तो आपको काफी सारी समस्याएं होती हैं वह समस्याएं आती हैं अगर आप ज्यादा ट्रांजैक्शन करते हैं तो इस बीच में आईसीआईसीआई बैंक मेडिएटर होता है जो आपकी हर एक ट्रांजैक्शन को करता है अगर आपके अकाउंट से बहुत ज्यादा यूपीआई ट्रांजैक्शन होता है तो वह आपके अकाउंट को होल्ड कर देता है यानी कि आप कहीं पर भी ट्रांजैक्शन नहीं कर पाएंगे इसलिए अगर आपके पास दो से अधिक अकाउंट होंगे तो आपको यह समस्या आ सकती है ऐसे में आप लोगों को काफी सावधान होने की जरूरत है.

इसके अलावा जिन लोगों के पास एक से अधिक बैंक अकाउंट होते हैं उन्हें कई प्रकार के भुगतान भी करने पड़ते हैं और काफी लोग तो बैंक की स्कीम देख कर या फिर लोन लेने के चक्कर में दूसरा खाता खुलवा लेते हैं और जब आपका खाता खुलवाया जाता है तो आपसे काफी सारे कागजात पर हस्ताक्षर करवाए जाते हैं लेकिन लोगों को नहीं पता होता है कि उसमें क्या लिखा है और लोग पढ़ना भी नहीं चाहते हैं जोगी बैंक द्वारा आपसे छुपाया जाता है जो आपके लिए काफी ज्यादा हानिकारक साबित हो सकता है.

लेकिन जहां एक से अधिक बैंक खाता खोलने के नुकसान है वही काफी सारे फायदे भी हैं तो आइए जानते हैं फायदे और नुकसान के बारे में.

 

एक से अधिक बैंक खाते होने के फायदे

 

खरीदारी करने पर लाभ

 

जी हां अगर आप खाता अलग-अलग बैंक में है तो आपके लिए समय-समय पर हर तरह के शॉपिंग करने पर काफी सारे डिस्काउंट प्रदान किए जाते हैं तो अगर आपके पास भी उस बैंक का खाता होगा तो आप आसानी से किसी भी सामान को डिस्काउंट दामों पर ले पाएंगे इसके अलावा आपको अलग-अलग बैंक खाते होने की वजह से अलग-अलग बैंकों में ब्याज दरों में कमी डेबिट कार्ड की सुविधा लोन लेने में सुविधा ऐसे कई सारी सुविधाएं मिल जाती है और यही कारण है कि लोग अपना खाता अलग-अलग बैंकों में रखते हैं ताकि वह उन योजनाओं का लाभ ले पाए और 1 से ज्यादा अकाउंट होने पर आसानी से आप कोई भी ट्रांजैक्शन कर सकते हैं.

 

बीमा कवर लेने में आसानी

 

अगर आपका खाता एक ही बैंक में रहेगा तो आरबीआई गाइडलाइन के अनुसार आपके जमा राशि का केवल ₹500000 का ही बीमा होता है यानी कि अगर बैंक दिवालिया हो जाता है तो आप को सरकार की तरफ से या बैंक की तरफ से मात्र ₹500000 ही दिए जाएंगे भले ही आपके खाते में कितने भी करोड़ों रुपए हो इसलिए अगर आप अपने पैसे को सुरक्षित रखना चाहते हैं तो अलग-अलग बैंकों की आवश्यकता होती है ताकि आपका रिस्क कम हो जाए इसलिए आपके लिए एक से अधिक बैंक खाते काफी फायदेमंद हो सकते हैं.

 

पैसे निकालने में सुविधा

 

जी हां आज के समय में अगर आप किसी दूसरे बैंक के डेबिट कार्ड का इस्तेमाल किसी दूसरे एटीएम से पैसे निकालने में करते हैं तो आपको ट्रांजैक्शन चार्ज पे करना होता है ऐसे में अगर आप उसी एटीएम के ब्रांच का डेबिट कार्ड यूज करते हैं तो आपको एक्स्ट्रा चार्ज नहीं देना होगा इसलिए लोग एक से अधिक बैंक खाते का इस्तेमाल करते हैं और फायदा उठाते हैं. लेकिन अगर आप का कार्य एक बैंक खाते से चल सकता है तो मात्र आपको एक ही बैंक खाता खुलवाना चाहिए.

 

एक से अधिक बैंक खाते होने के नुकसान

 

पैसा चोरी होने का खतरा

 

अगर आपके पास भी एक से अधिक बैंक अकाउंट होते हैं तो ऐसे में आप हर खाते को अच्छे तरीके से संतुलित नहीं कर पाते हैं ऐसे में आपका खाता ट्रांजैक्शन ना होने के कारण कुछ दिन में निष्क्रिय हो जाता है और जिस पर आप ध्यान भी नहीं देते हैं ऐसे में अगर किसी हैकर या धोखाधड़ी करने वाले के हाथ आपका पैन कार्ड और कोई भी आईडी लग जाता है तो वह आपकी खाते के साथ छेड़छाड़ या आपके पैसे को चोरी कर सकता है. 

 

आइटीआर दाखिल करने में समस्या

 

अगर आप भी अपना हर साल आईटीआर दाखिल करवाते हैं तो ऐसे में आपको आइटीआर भरने में समस्या आ सकती है क्योंकि आप लोगों को आइटीआर भरने के लिए अपने बैंक खाते और ट्रांजैक्शन की डिटेल्स को देना पड़ता है ऐसे में अगर आपके पास एक से अधिक बैंक खाते हैं तो आपको सभी बैंक की ट्रांजैक्शन या उनकी जानकारी रखने में समस्या आती है और हर एक बैंक खाते को अपडेट करना काफी मुश्किल होता है ऐसे में आइटीआर भरने में आपको काफी सारी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है. 

 

एटीएम से पैसा निकालने में दिक्कत

 

जी हां अगर आपके पास एक से अधिक बैंक खाते हैं तो ऐसे में आपको काफी सारे डेबिट कार्ड हर एक बैंक की तरफ से मिलते हैं और सभी बैंकों से आपको SMS और चेक बुक मिलता है ऐसे में इन सभी चीजों के लिए आपको अपने बैंक खाते से कुछ ना कुछ चार्ज देना पड़ता है जो सालाना आधार पर देखें तो काफी ज्यादा आपको चार्ज देना पड़ सकता है अगर आप एक से अधिक बैंक खाते का डेबिट कार्ड या SMS जैसी सुविधाएं इस्तेमाल करते हैं. 

Leave a Comment