चीन में कोविड-19 शटडाउन से टेस्ला को लगा झटका , डिलीवरी में आई गिरावट

कोरोना वायरस महामारी से चीन की हालत खस्ता हो गई है। कोविड-49 महामारी की वजह से लगाए गए शटडाउन और सप्लाई चेन से जुड़ी दिक्कतों के चलते टेसला को लंबी चपत लगी है। कंपनी ने बताया कि दूसरी तिमाही में डिलीवरी में तिमाही आधार पर 47.9 फीसदी की गिरावट आई है दुनिया की दिग्गज इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली कंपनी टेस्ला ने बताया कि उसने अप्रैल से जून की अवधि में 254,065 कारों की डिलीवरी की है। जबकि इसके पिछली तिमाही में कंपनी ने 340,048 कारों की डिलीवरी की थी।

दूसरी तिमाही में टेसला का रिकॉर्ड तिमाही डिलीवरी का 2 साल लंबा दौर थमता नजर आया है। चीन में कोविड-49 के मामलों की बढ़ती संख्या के चलते कंपनी को अपनी शंघाई स्थित फैक्ट्री में अस्थाई तौर पर उत्पादन रोकना पड़ा था। इसके अलावा दूसरी तिमाही के दौरान कंपनी को सप्लाई से जुड़ी दिक्कतों का भी सामना करना पड़ा।

कंपनी को डेलीवरी में सुधार करने में मदद मिलेगी

कंपनी ने आगे कहा है कि वो कोविड- 49 की वजह से लागू लॉकडाउन के हटने के बाद से ही अपनी शंघाई (Shanghai) फैक्ट्री का प्रोडक्शन बढ़ा रही है। जिससे साल की दूसरी छमाही में डिलीवरी की स्थिति में सुधार आएगा। इसके पहले

जून में टेस्ला के सीईओ एलॉन मस्क (Elon Musk) ने कहा था कि इकोनॉमी को लेकर उनके मन में काफी निराशाजनक भावनाएं आ रही हैं। ऐसे में कंपनी के करीब 40 फीसदी स्टाफ की छंटनी किए जाने की जरूरत है। मस्क ने ये भी कहा है कि टेसला के वाहनों की मांग काफी मजबूत बनी हुई है। लेकिन सप्लाई से जुड़ी दिक्कतें अभी भी बनी हुर्ई है।

अमेरिका में टेसला की कीमतों में इजाफा

जून महीने में टेस्ला ने अमेरिका और चीन में अपने कुछ मॉडल्स की कीमतों में इजाफा किया था। इसके पहले मस्क ने कच्चे माल की कीमतों में बढ़ोतरी और लॉजिस्टिक्स सेवाओं के महंगे होने को लेकर एक चेतावनी भी जारी की थी। Refenitiv के आंकड़ों के मुताबिक एनालिस्ट का मानना था कि अप्रैल से जून तिमाही के दौरान कंपनी की कुल डिलीवरी 295,078 रहेगी। वहीं कई एनालिस्टों ने चीन में लंबे लॉकडाउन को देखते हुए यहां के डिलीवरी अनुमान को घटाकर 250,000 कर दिया था।

Leave a Comment